Tuesday , 26 March 2019
Home / Religious

Religious

एकलव्य का श्री कृष्ण ने किया वध, जानिए क्यूँ

eklavya-drona

एकलव्य की कुशलता महाभारत काल में प्रयाग के तटवर्ती प्रदेश में सुदूर तक फैला श्रृंगवेरपुर राज्य एकलव्य के पिता निषादराज हिरण्यधनु का था। उस समय श्रृंगवेरपुर राज्य की शक्ति मगध, हस्तिनापुर, मथुरा, चेदि और चंदेरी आदि बड़े राज्यों के समकक्ष थी। पांच वर्ष की आयु से ही एकलव्य की रुचि ...

Read More »

शाही स्नानों के लिए किराए पर बुलाए जाते हैं नागा बाबा

naga baba sadhu

महाकुंभ, अर्धकुंभ या फिर सिंहस्थ कुंभ में आपने नागा साधुओं को जरूर देखा होगा। कौन हैं ये नागा साधु, कहां से आते हैं और कुंभ खत्म होते ही कहां चले जाते हैं? इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं हैं। इन मेलों के दौरान लाखों की सख्या में नागा ...

Read More »

मोर पंखों से खुल सकता है आपका भाग्य

indian-peacock

मोर के विषय में माना जाता है कि यह पक्षी किसी भी स्थान को बुरी शक्तियों और प्रतिकूल चीजों के प्रभाव से बचाकर रखता है। यही वजह है कि अधिकांश लोग अपने घरों में मोर के खूबसूरत पंखों को लगाते हैं। इस बात में कोई संदेह नहीं है कि भले ...

Read More »

बुध प्रदोष व्रत के दिन व्रत करने से होती है सभी मनोकामनाएं पूर्ण

newsmanthan

हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत प्रत्येक मास की दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि को किया जाता है। मार्गशीर्ष मास की कृष्ण पक्ष को प्रदोष पड़ रहा है। इस व्रत में भगवान शिव जी की पूजा की जाती है। इस बार प्रदोष व्रत 23 दिसंबर, बुधवार को है। जो कि बुध प्रदोष व्रत ...

Read More »

हनुमान की कृपा पाने के लिए करें मंगलवार को ये उपाय

newsmanthan

किसी को बडी समस्याओं का सामना करना पडता है जो अधिक समय तक रहती है जिसके कारण आप अशांत और सुकून भरी जिंदगी चाहने के लिए अपनी जिंदगी आपको बोझिल लगने लगती है। इन समस्याओं से आपको निजात हनुमान जी दिला सकते है क्योंकि इनकी साधना अति सरल एवं सुगम ...

Read More »

ऐसा मंदिर जहां भक्त हो जाते हैं अंधे

newsmanthan

उत्तराखंड के देवाल स्थित पर्यटन एवं धार्मिक स्थल वाण के लाटू मंदिर में श्रद्धालु अंदर प्रवेश नहीं करते, बल्कि मंदिर से 30 मीटर दूर परिसर में ही रहकर पूजा करते हैं। मंदिर के अंदर केवल पुजारी प्रवेश करता है वो भी आंख पर पट्टी बांधकर। इसी रहस्य और आस्था से ...

Read More »