Monday , 25 March 2019

22 फ़ीसदी बजट बढ़ा कर ‘रेल की रफ़्तार’ बढ़ाने की कोशिश, बाक़ी कुछ ख़ास नहीं

Home / BUSINESS / 22 फ़ीसदी बजट बढ़ा कर ‘रेल की रफ़्तार’ बढ़ाने की कोशिश, बाक़ी कुछ ख़ास नहीं
download

देहरादून/दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आम बजट के साथ ही रेलवे के लिए खर्च और योजनाओं का ऐलान किया. आम बजट के साथ कई सालों बाद पेश हुए रेल बजट में कुछ खास नजर नहीं आया. इस बार का रेल बजट पिछले के मुकाबले 22 फीसदी बढ़ा है.

अाम बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि रेलवे अतिरिक्त संसाधनों से पैसा जुटाने की कोशिश करेगी. रेलवे सरंक्षा के लिए एक लाख करोड़ का फंड दिया गया है.

2017-18 में 3500 किलोमीटर लंबी रेलवे लाइन बिछाने का प्रावधान किया गया है. टूरिजम और धार्मिक यात्राओं के लिए अलग से ट्रेनें चलाई जाएंगी. इसके अलावा 500 किमी रेल लाइन बिछाने का लक्ष्य निर्धारित की गई है.Arun-Jaitley-l-pti देशभर में मानव रहित फाटक खत्म होंगे.

रेलवे के लिए 1.31 लाख करोड़ रुपये का बजटीय प्रावधान किया गया है. मेट्रो रेल के लिए नई नीति की घोषणा की जाएगी. ई टिकट पर सर्विस टैक्स नहीं लिया जाएगा. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि ट्रेनों में बायो टॉइलट लगाए जाएंगे, 2019 तक इस काम को समाप्त कर लिया जाएगा.

बजट के दौरान वित्तमंत्री ने कहा कि रेलवे कंपनियों को शेयर बाजार में लिस्ट किया जाएगा. आईआरसीटीसी को शेयर बाजार में लिस्ट किया जाएगा. यात्रियों की सुरक्षा के लिए रेल सुरक्षा कोष बनाया जाएगा. इसके लिए एक लाख करोड़ का प्रावधान किया गया है. 7000 रेलवे स्टेशनों पर सौर ऊर्जा की सुविधा सुनिश्चित की गई है. 25 रेलवे स्टेशनों को अवार्ड किया जाएगा अगले वित्त वर्ष में दिव्यांगों के लिए स्टेशनों पर लिफ्ट और एस्केलेटर लगाए जाएंगे.

रेलवे बजट के मुख्य बिंदु

  • रेल संरक्षा के लिए 1 लाख करोड़ रुपये का फंड
  • 2020 तक मानव रहित क्रासिंग पूरी तरह खत्म
  • रेलवे विकास के लिए 1 लाख 31 हजार करोड़
  • स्टेशनों के विकास के लिए 25 स्टेशन का चयन
  • रेलवे में स्वच्छता, सुरक्षा पर जोर
  • 3500 किमी. नई रेल लाइन बनेंगी
  • 7000 हजार स्टेशनों पर सोलर लाइनें
  • IRCTC से ई-टिकट पर सर्विस चार्ज नहीं लगेगा
  • 500 रेलवे स्टेशनों को दिव्यांगों के लिए आसान बनाया जाएगा
  • 2019 तक बॉयो टॉयलेट
  • IRCTC अब शेयर बाजार का हिस्सा होगी, रेलवे से जुड़ी तीन कंपनियां शेयर बाजार में शामिल होंगी।
  • क्लीन माई कोच सेवा की शुरुआत की जाएगी
  • मेट्रो रेल के लिए नई नीति की घोषणा की जाएगी
  • टूरिज्म और धार्मिक यात्राओं के लिए अलग से ट्रेनें चलाई जाएंगी
  • कोच की शिकायतों के लिए कोच मित्र योजना लाई जा रही है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *